ये हैं Virat Saraf को अगवा करने वाले, मांगे थे 6 करोड़, 3 गिरफ्तार, मुख्य की तलाश

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर (Bilaspur) के मासूम विराट सराफ (Virat Saraf) का 20 अप्रैल की रात में अपहरण करने वालों ने दूसरे दिन ही 6 करोड़ रुपए की फिरौती मांगी थी। तीन अपहरणकर्ताओं की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने यह खुलासा किया है। हालांकि, परिवार वालों के कहने पर 1.5 करोड़ रुपए में डील तय हो गई थी। इसके बाद पुलिस पूरी तरह से अलर्ट हो गई थी। अपहरण करने वालों में 4-5 व्यक्ति और दो महिलाएं शामिल थीं। इन लोगों ने विराट को अगवा करने के बाद कुछ किमी की दूरी पर एक किराये के मकान में रखा हुआ था।

खाने मांगने पर देते थे सिर्फ बिस्किट, पीटते भी थे, मगर विराट ने भी हाथ चलाकर दिया था जवाब

विराट के शोर मचाने पर मारते-पीटते थे। मगर विराट इनसे हार मानने वालों में नहीं था। खाना मांगने पर सिर्फ बिस्किट ही देते थे फिर भी नहीं टूटा। यही वजह है कि विरोध करने पर बदमाशों ने विराट की पिटाई की तो वह भी चुप नहीं बैठा अपनी हिम्मत के अनुसार वह भी हाथ-पैर मारने लग जाता था। आखिरकार विराट की यही हिम्मत और मां-पिता समेत लाखों लोगों की दुआएं व पुलिस की मेहनत रंग लाई। जिसकी बदौलत 7 साल का मासूम विराट अपने जन्मदिन से ठीक दो दिन पहले अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छूटकर सुरक्षित घर लौट आया।

 

50 पुलिसकर्मियों की टीम ने ऑपरेशन विराट चलाकर छुड़ाया

पुलिस ने बताया कि गैंग में महिलाओं समेत 4-5 लोग हैं। इनका मास्टरमाइंड राजकिशोर नामक बदमाश है। यह बिहार का रहने वाला है और कई लोगों को अगवा कर चुका है। हाल में जेल से छूटने के बाद इसने इस वारदात को अंजाम दिया था। अपहरणकर्ताओं के चंगुल से मासूम विराट को मुक्त कराने के लिए आधी रात एसपी ने ऑपरेशन चलाया। इसके लिए उन्होंने 50 से अधिक पुलिसकर्मियों को ऑपरेशन में शामिल किया था। इसके बाद बदमाशों की लोकेशन मलिते ही पूरे सिविल लाइन एरिया को सील कर दिया गया इसके बाद जरहभाठा मिनी बस्ती के पन्नानगर स्थित उस मकान में पुलिस पहुंची जहां विराट को रखा गया था। वहां पहुंचते एसपी को बच्चा विराट मिल गया। इसके बाद वह उसे लेकर निकले और पुलिस टीम ने 3 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *