UP-100 : इनकी तरह चुप्पी तोड़ें, कोई छेड़े तो 100 नंबर पर बोले, 10 मिनट में पुलिस ने दबोचा

Special Crime Safety Report

यूपी-100 नंबर पर सूचना मिलते ही पुलिस का रेस्पॉन्स टाइम अब रियल टाइम में बदल रहा है। दरअसल, सबकुछ ऑनलाइन सिस्टम और कॉलर की लोकेशन तुरंत मिल जाने से अधिकतम 15 से 20 मिनट के भीतर ही पुलिस एक्शन ले रही है। हालांकि, कई मामलों में 10 मिनट में ही पुलिस मौके पर पहुंचकर पीड़ित की मदद कर रही है।

अभी यूपी के दो शहरों में छेड़छाड़ के मामलों में यूपी-100 ने महज 10 मिनट के भीतर ही मौके पर पहुंचकर मनचलों को दबोच कर थाने के हवाले कर दिया। इस कार्रवाई से शहर की बेटियों से छेड़छाड़ करने वालों को जहां सबक मिला है वहीं लड़कियों को झिझक छोड़ने और चुप्पी को तोड़ ऐसे मनचलों के खिलाफ 100 नंबर पर तुरंत सूचना देने की हिम्मत मिली है।

केस-1 : वाराणसी में कई दिनों से पीछा कर रहे मनचले को छात्रा ने हिम्मत दिखा पकड़वाया

पहला मामला वाराणसी का है। यहां के मड़ुवाडीह एरिया में कॉलेज से आ रही एक छात्र का मनचला लगातार पीछा कर रहा था। वह लड़की पर अभद्र कमेंट भी कर रहा था। उसकी इस हरकत से लड़की पिछले कई दिनों से परेशान थी। शुरू में उसने मनचले की गतिविधियों को नजरअंदाज कर दिया था। मगर इससे उसका मनोबल बढ़ गया था और अब वह गंदे कमेंट करने लगा था। आखिरकार छात्रा ने उसके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए 100 नंबर पर पुलिस को फोन कर दिया। पुलिस को सूचना देने के 10 मिनट के भीतर यूपी-100 की PRV0615 मौके पर पहुंच गई। पुलिस को देखते ही मनचला भागने लगा। मगर कुछ दूरी तक पीछा करते हुए पुलिस ने आखिरकार उसे दबोच ही लिया और थाने के हवाले कर दिया।

केस-2 : मंदिर जा रही युवती से छेड़छाड़ का प्रयास, सूचना मिलने पर पुलिस ने सिखाया सबक

यह घटना लखनऊ के काकोरी थाना एरिया की है। यहां के भुवनेश्वर मंदिर में 31 मार्च को एक लड़की पूजा करने जा रही थी। उसी दौरान एक मनचला उसका पीछा करते हुए छेड़छाड़ का प्रयास करने लगा था। इस पर लड़की ने तुरंत किसी तरह समय निकालकर तुरंत 100 नंबर पर सूचना दे दी। जिसके बाद वहां यूपी-100 की गाड़ी पहुंची और आरोपी मनचले को पकड़ लिया। भले ही कोई बड़ी घटना न लगे लेकिन मनचलों के खिलाफ चुप रहने से यही किसी दिन सनसनीखेज वारदात को अंजाम दे देते हैं। इसीलिए जब कभी ऐसे मनचले कैसी भी हरकत करें तो या उन्हें खुद ही सबक सिखाएं या तुरंत पुलिस को सूचना दें।

नजरअंदाज न करें : आपकी चुप्पी से ही मनचलों का बढ़ जाता है हौसला

अक्सर ऐसा होता है कि काॅलेज या बस में कोई आपको बार-बार घुरकर देखता है या फिर पीछा करने लग जाता है। मगर इसे लड़कियां ज्यादातर नजरअंदाज कर देती हैं जिससे की सामने वालें का हौसला बढ़ जाता है। ऐसे में आप जब कई बार उसे इग्नोर करेंगी तो वह कभी भी आपको बड़ा नुकसान पहुंचा सकता है। इसीलिए शुरुआत में ही सबक सिखाने के लिए उसके सामने आकर विरोध जरूर जताएं या काफी संख्या में लोग रहें तो शोर भी मचाएं। ऐसे मनचला फिर जल्दी ऐसी हरकत नहीं करेगा। अगर फिर भी वह नहीं मानता है तो तुरंत 100 नंबर सूचना दें।

सेफ्टी पिन, पेपर स्प्रे के साथ सेफ्टी मोबाइल ऐप भी रखें

खुद को किसी हमले से बचाने के लिए लड़कियां अक्सर सेफ्टी पिन व पेपर स्प्रे साथ में रखती हैं। इसका तो जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल करें ही साथ ही अपने मोबाइल में पैनिक बटन या यूपी-100 जैसे ऐप भी रखें जिससे एक बटन दबाते ही आपकी लोकेशन के साथ सूचना पहुंच जाएगी। इस तरह जब तक पुलिस आप तक नहीं पहुंच जाती तब तक आप भी सेफ्टी पिन या मिर्च स्प्रे से अपना बचाव कर सकती हैं। इस दौरान हमेशा आप शोर मचाते हुए मनचले से दूरी भी बनाए रखें। इसके अलावा आप खुद को किसी पुलिस अधिकारी या मंत्री की बेटी या रिश्तेदार बताकर आरोपी को धमका भी सकती हैं ताकी वह कोई गलत कदम न उठा सके।

अब बड़ी सजा : छेड़छाड़ के दोषी को 5 साल तक की जेल

छेड़छाड़ करने की आईपीसी की धारा-354 के तहत दोषी पाए जाने पर अब अधिकतम 5 साल कैद की सजा का प्रावधान किया गया है। पहले कम सजा होती थी। मगर 2012 में हुए निर्भया कांड के बाद इस सजा में बदलाव किया गया था। अब इस मामले में कम से कम एक साल कैद की सजा तो होगी ही। इसे गैर-जमानती अपराध माना गया है।

ऐसे जानें छड़छाड़ के नए कानून को…जब केस हो तो सही धाराओं में दर्ज कराएं केस

आईपीसी की धारा-354 को A, B, C और D चार पार्ट में कर दिया गया है। धारा-354-ए में भी चार अलग-अलग पार्ट हैं। आइए जानें

धारा-354ए (पार्ट-1) : इसके तहत अगर कोई शख्स किसी महिला के साथ सेक्सुअल नेचर के मद्देनजर उसके शरीर को टच करता है या फिर उसी तरह के इशारे भी करता है तो 354-ए पार्ट-1 लगेगा। इसमें अधिकतम 3 साल तक की सजा का प्रावधान है।

धारा-354 ए (पार्ट-2) : अगर कोई व्यक्ति महिला से किसी प्रकार की सेक्स करने की इच्छा से डिमांड करता है तो पार्ट-2 लगेगा। इसमें 3 साल तक की सजा का प्रावधान है।

धारा-354ए (पार्ट-3) : अगर कोई व्यक्ति आपकी मर्जी के खिलाफ जबरन आपको पोर्न फिल्म या फोटो दिखाता है तो पार्ट-3 लगेगा। इसमें भी 3 साल तक की सजा का प्रावधान है।

धारा-354 ए (पार्ट-4) : अगर कोई व्यक्ति आपको सेक्सुअल कलर मतलब किसी को आकर्षित करने के लिए ऐसी हरकत करना या उस पर कमेंट कर देना। इस धारा के तहत एक साल तक कैद का प्रावधान है।

धारा-354 B : नए कानून के तहत अगर कोई शख्स जबरन महिला का कपड़ा उतरवाता है या फिर उकसाता है तो धारा-354 बी के तहत केस दर्ज होगा और दोषी को 3 साल से लेकर 7 साल तक कैद की सजा होगी। यह मामला गैर जमानती होगा।

धारा-354 C : अगर कोई व्यक्ति महिला के प्राइवेट एक्ट का फोटोग्राफ लेता है और उसे इंटरनेट पर या अन्य तरीके से दूसरों तक पहुंचाता है तो आईपीसी की धारा-354 सी लगती है। दोषी को एक साल से तीन साल तक सजा का प्रावधान है। अगर वही व्यक्ति दूसरी बार दोषी पाया जाता है तो 3 साल से 7 साल तक कैद की सजा हो सकती है और यह गैर जमानती अपराध होगा।

धारा-354 D : किसी लड़की या महिला का पीछा करना और उससे किसी भी तरह से फोन या अन्य तरीके से संपर्क करने का प्रयास करना या फिर स्टॉकिंग के मामले में आईपीसी की धारा-354 डी के तहत केस दर्ज होगा और दोषी को तीन साल तक कैद हो सकती है। इस तरह के मामले आजकल तेजी से बढ़ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *