इमरान खान का ये है पाकिस्तान : ईसाई धर्म की लड़की व महिला को अगवा कर किया दुष्कर्म, जबरन धर्म परिवर्तन

अल्पसंख्यकों के साथ भारत व पाकिस्तान में होने वाले व्यवहार को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने हाल में ही कहा था कि ‘नरेंद्र मोदी सरकार को दिखाएंगे कि अल्पसंख्यकों के साथ कैसा बर्ताव किया जाए.’। उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि “नया पाकिस्तान कायद (जिन्ना) का पाकिस्तान है और यहां सुनिश्चित किया जाएगा कि हमारे अल्पसंख्यकों के साथ समान नागरिकों के रूप में बर्ताव हो, ना कि उस तरह का जैसा कि भारत में हो रहा है’। अब जानिए पाकिस्तान में अल्पसंख्यक लड़की व महिलाओं को अगवा कर जबरन दुष्कर्म और धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है और पीएम इमरान खान तमाशा देख रहे हैं।

 

 

pakistan pm Imran khan tweet

पाकिस्तान एक ऐसा मुल्क है जहां इंसान को इंसान नहीं समझा जाता है। ऐसा हो सकता है कि आप इस बात से इत्तेफाक न रखते हों। मगर जब यहां की कुछ बातों पर आपका ध्यान ले जाएंगे तो आप भी यह मानने को मजबूर हो जाएंगे। यह दावा सिर्फ कही-सुनी बातों पर नहीं बल्कि पुख्ता सबूत के साथ पेश किया जाएगा। दरअसल, पाकिस्तान में काफी पहले से गैर-मुस्लमानों के साथ हैवानियत से भी बदतर व्यवहार किया जा रहा है। किसी भी अल्पसंख्यक लड़की या महिला को अगवा कर लेना, उसके साथ बलात्कार करना और कम उम्र में ही निक़ाह कराकर उसका मुस्लिम धर्म में परिवर्तन करा देना आम बात हो गई है। अभी एक महीने के भीतर दो ताजे मामले आ चुके हैं। एक केस में नाबालिग ईसाई लड़की को उसके पिता के सामने ही अपहरण कर लिया गया। कई दिनों तक उसके साथ बलात्कार किया गया। इसके बाद जबरन उसका धर्म परिवर्तन करा दिया गया। यही नहीं, उसका निक़ाह भी कर दिया गया और उसकी उम्र 18 बता दी गई। अब पिता इंसाफ के लिए भटक रहा है मगर कोई सुनने वाला नहीं है।

वहीं, अभी कुछ दिन पहले तीन बच्चों की मां ईसाई महिला का जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया है। महिला मदद के लिए पुलिस के पास गई तो वहां भी सुनवाई नहीं हुई। अब महिला के पति दुनिया भर में सोशल मीडिया के माध्यम से इंसाफ मांग रहे हैं। यह स्थिति तब है जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कुछ महीने पहले ही कह चुके थे कि ‘नरेंद्र मोदी सरकार को दिखाएंगे कि अल्पसंख्यकों के साथ कैसा बर्ताव किया जाए.’। उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि “नया पाकिस्तान कायद (जिन्ना) का पाकिस्तान है और यहां सुनिश्चित किया जाएगा कि हमारे अल्पसंख्यकों के साथ समान नागरिकों के रूप में बर्ताव हो, ना कि उस तरह का जैसा कि भारत में हो रहा है’

13 साल की किशोरी को अगवा कर किया दुष्कर्म, 18 साल का बता कराया धर्म परिवर्तन

पीड़ित सद्दाफ मसीह व परिजन

यह लड़की महज 13 साल की है। नाम है सद्दाफ मसीह। इसका परिवार पाकिस्तान के बहावलपुर में रहता है। परिवार ईसाई धर्म को मानता है। इस किशोरी को 6 फरवरी 2019 को मकबूल हुसैन, मुबाशिर हुसैन और अजहर हुसैन नामक तीन युवकों ने अगवा कर लिया था। इसके बाद उसके साथ कई दिनों तक दुष्कर्म किया। किशोरी के पिता ने तीनों से उसे छोड़ने की गुहार लगाई तो यह बोलकर लौटा दिया था कि कुछ दिन बाद पहुंचा देंगे। करीब 8 दिन बाद जब किसी तरह परिवार के लोग अपनी बेटी से मिले तो पता चला कि उसे 18 साल का बताकर मुस्लिम में धर्म परिवर्तन कराया जा चुका है। अब उसकी शादी भी हो जाएगी।

यह जानकर सद्दाफ मसीह के परिवारवाले सन्न रह गए। उन्होंने पुलिस से मदद की गुहार लगाई। कोई मदद नहीं मिली। अब उन्होंने इंसाफ के लिए एनजीओ और अन्य संस्थाओं से मदद मांगी है। मगर सरकार की तरफ से न्याय दिलाने के लिए कुछ नहीं किया गया है जबकि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का बयान आप उनके ट्वीट में पढ़ सकते हैं।

साइमा इकबाल : दुनिया में किसी भी महिला के साथ ऐसा न हो, जैसा पाकिस्तान में हुआ

 

साइमा इकबाल अपने बच्चों के साथ

पाकिस्तान में रहने वाली ईसाई धर्म की 35 वर्षीय साइमा इकबाल के साथ ऐसा हुआ जो शायद ही दुनिया में किसी महिला के साथ हो। परिवार में तीन बच्चे हैं। पति नवीद इकबाल हैं। पूरा परिवार इस्लामाबाद के पास ही रहता है। काफी खुश परिवार है। मगर अचानक इनके परिवार में ऐसी स्थिति आई जिसके बाद से मां-बच्चे और पति सब अलग-अलग हो गए। अब पत्नी को बचाने के लिए पति देश व दुनिया भर में अपील कर रहे हैं मगर इंसाफ नहीं मिल रहा है। दरअसल, 25 फरवरी को इस्लामाबाद के न्यू इकबाल टाउन में रहने वाली साइमा को मुस्लिम व्यक्ति मोहम्मद खालिद ने अगवा कर लिया था।

इसका पता चलने पर साइमा के पति नवीद इकबाल ने तुरंत पुलिस को सूचना दी मगर कोई एक्शन नहीं लिया गया। करीब 3 दिन बाद जब पति ने पुलिस के सामने ही आत्मदाह करने की बात कही तब जाकर 1 मार्च को पुलिस ने उनकी शिकायत दर्ज की। मगर तब तक काफी देर हो चुकी थी। पुलिस ने 5 मार्च को आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया मगर उसके पास से ऐसे कागजात दिखाए गए जिसमें लिखा था कि साइमा ने इस्लाम धर्म कबूल कर लिया है और आरोपी से ही शादी कर चुकी है।

परिवार को मारने की धमकी देकर साइमा के साथ किया पहले दुष्कर्म, फिर फर्जी कागज पर धर्म परिवर्तन और निक़ाह

ये है इमरान खान का बदला हुआ पाकिस्तान। साइमा के साथ हुई यह घटना रौंगटे खड़े कर देने वाली है। साइमा का उस समय अपहरण हुआ था जब उनके पति नाइट शिफ्ट में काम करने ऑफिस गए थे। 26 फरवरी की सुबह घर पहुंचे तब पूरी घटना का पता चला था। इसका पता लगया तो जानकारी मिली की साइमा को बच्चे और पति को जान से मारने की धमकी देकर उनके साथ कई बार दुष्कर्म किया गया। इसके बाद बेरहमी से पीटा गया और फिर जबरन निकाह किया गया। अब पीड़ित परिवार सोशल मीडिया के माध्यम से गुहार लगा रहा है कि उन्हें सुरक्षा नहीं महसूस हो रही है और पूरा परिवार काफी बुरे हालात में है। दुनिया भर से मदद की जरूरत है।

ये भी जानें

– अमेरिका ने पाकिस्तान को उन देशों की ब्लैकलिस्ट में डाल दिया है जहां धार्मिक आाजादी का उल्लंघन होता है। 

 पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की आबादी

1- हिंदू : सबसे ज्यादा लेकिन हालत दयनीय पाकिस्तान में हिंदू वैसे तो 2 फीसदी से भी कम हैं लेकिन इन्ही की संख्या अल्पसंख्यकों में ज्यादा है। ज्यादातर सिंध प्रांत में रहते हैं और बेहद ही पिछड़े हैं।

2- ईसाई धर्म के लोगों की संख्या 1.6 फीसदी है। ये हिंदू के बाद दूसरे नंबर पर हैं। मगर आए दिन इनका जबरन धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है। इनकी आबादी अभी 28 लाख के आसपास है।

3- बहाई धर्म मानने वालों की संख्या अब 40-80 हजार ही बची है।

4- सिख की संख्या महज 20 हजार है जबकि सिख संस्थापक गुरु नानक जी का जन्म पाकिस्तान के ही ननकाना साहिब में हुआ था।

5- पारसी धर्म मानने वालों की संख्या कुछ हजार में ही है। वैसे यह धर्म पूरे विश्व में तेजी से कम हो रहा है

6- कलाश धर्म। यह विशेष व अनोखी संस्कृति के लिए जाना जाता है। इनकी संख्या महज 3 हजार तक बची है। पाकिस्तान का सबसे छोटा धार्मिक समुदाय है।

One thought on “इमरान खान का ये है पाकिस्तान : ईसाई धर्म की लड़की व महिला को अगवा कर किया दुष्कर्म, जबरन धर्म परिवर्तन

  • March 18, 2019 at 11:45 am
    Permalink

    Pakistan jaise country par united nation ko action lena chahiye

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *