OLX पर खुद को आर्मी वाला बताकर फोन व कार के नाम पर हो रही ठगी, रहें अलर्ट

आप भी OLX पर सस्ते में फोन या कार या दूसरा कोई सामान खरीदने का शौक रखते हैं तो सावधान रहने की जरूरत है। खासतौर पर उस समय जब कोई शख्स खुद को आर्मी अधिकारी बताकर आपसे देशभक्ति की बातें करके सस्ते में सामान बेचने का ऑफर करे। दरअसल, एक गैंग के सदस्य आर्मीमैन की वर्दी के साथ वाली फोटो और आर्मी की ऑफिसियल कोरियर सेवा वाली रसीद दिखाकर लोगों से ठगी कर रहे हैं। ये जालसाज एपल फोन से लेकर महंगे स्मार्ट फोन को आधे से भी कम कीमत और नई कार को भी सस्ते में देने के नाम पर लोगों को शिकार बना रहे हैं। कई बार ये देशभक्ति की बातें करके यह बताते हैं कि उनके परिवार का कोई सदस्य अस्पताल में भर्ती है और उसकी मदद के लिए अपना सामान बेचने को मजबूर हैं। यह जानकर कोई भी शख्स आसानी से उसके झांसे में आ जाता है।

 वॉट्सऐप पर बात करते हुए वर्दी वाली फोटो और आईडी कार्ड भेज जीत लेते हैं भरोसा

 

fraud by Army photo

ओएलएक्स पर खुद को आर्मी अधिकारी बताकर लोगों से मोबाइल फोन और कार भी सस्ते में बेचने के नाम पर ठगी की जा रही है। मोबाइल या कार बेचने वाले से जब कोई संपर्क करता है तो जालसाज उससे खुद को आर्मी अधिकारी बताते हैं और फिर वॉट्सऐप नंबर पर संपर्क करते हुए तुरंत अपनी फोटो व फर्जी आईडी कार्ड भी भेज देते हैं। इससे पीड़ित को उस पर भरोसा हो जाता है और फिर शुरू हो जाती है ठगी की शुरुआत। अभी हाल में ही अमन नामक व्यक्ति से सोमनाथ गिरि नामक एक आर्मी मैन ने ठगी की थी। अमन ने ओएलएक्स पर आईफोन को महज 16 हजार रुपए में खरीदने का ऑफर देखा था। इसलिए उससे संपर्क किया था। फोन बेचने वाले ने खुद को सोमनाथ गिरि बताया और कहा कि वह आर्मीमैन है। उसके परिवार में पत्नी की ज्यादा तबीयत खराब है और वो अस्पताल में भर्ती है। ऐसे में ज्यादा खर्च आने पर वह अपने फोन को सस्ते में बेच रहा है। इसके बाद उसने भरोसा जीतने के लिए वॉट्सऐप नंबर लेकर अपनी वर्दी के साथ फोटो व आईडी कार्ड की डिटेल भी भेज दी। इससे अमन को भरोसा हो गया। फोन को उसने आर्मी पोस्टल से ही भेजने का लालच दिया और एक बिल भी वॉट्सएप पर भेज दिया। इसके बाद आर्मी वाले काफी ईमानदार होते हैं, यह कहकर जालसाज ने अमन से एडवांस में 2 हजार रुपए पेटीएम में मंगा लिए। इसके अगले दिन ही आरोपी ने फोन को कुछ देर बाद पहुंचने की बात कहकर दो बार में 10 हजार रुपए मंगा लिए। इसके बाद भी अमन को फोन नहीं मिला तो उसने सोमनाथ गिरि नामक शख्स से संपर्क करने का प्रयास किया। इस पर उसने फोन तक नहीं उठाया।

कार बेचने के नाम पर भी लोगों से की जा रही है ठगी, नकली आर्मी वालों से रहें सावधान

सस्ते में फोन के साथ अब ये जालसाज कार बेचने के नाम पर भी जालसाजी करने लगे हैं। दिल्ली-एनसीआर के लोगों को ये गैंग खासतौर पर शिकार बना रहा है। हाल में एक जालसाज ने खुद को आईजीआई एयरपोर्ट पर तैनात सीआरपीएफ का जवान बताते हुए फर्जी आईडी कार्ड व फोटो भेजकर सुशांत मेहरा नाामक व्यक्ति को वैगनआर कार बेचने के नाम पर ठगी कर ली। आरोपी नवीन ने खुद को सीआरपीएफ का जवान बताया था। यह भी बताया था कि वह आईजीआई एयरपोर्ट पर तैनात है। इसके बाद उसने वॉट्सएप पर फोटो भेजकर भरोसा जीत लिया और चैटिंग के दौरान कार का सौदा डेढ़ लाख रुपए में तय कर लिया था। यही नहीं, आरोपी ने सीआरपीएफ की फ्री ट्रासंपोर्ट सर्विस के जरिए कार भिजवाने का लालच देकर पहले सिक्योरिटी मनी के रूप में 5100 रुपये और फिर अलग-अलग किस्तों में घर के पास तक पहंुच जाने का लालच देकर डेढ़ लाख रुपये तक ठग लिए।

क्राइम हेल्पलाइन : सुझाव

  • ओएलएक्स पर किसी लुभावने विज्ञापन को देखकर कोशिश करें कि उससे वॉट्सएप वीडियो कॉलिंग से बात करें
  • अगर कोई खुद को आर्मी का बताए तो वीडियो के जरिए उसकी लोकेशन को जरूर देखें
  • किसी भी सामान को कोरियर या पोस्ट से मंगाने के बजाय बेचने वाले से मिलकर ही सामान लेने का प्रयास करें
  • अगर बेचने वाले से मिलना भी है तो उससे खुद किसी स्थान को तय करें और भीड़ वाले बाजार में ही मिलें
  •  किसी भी स्थिति में सामान मिलने से पहले किसी भी पैसे का ट्रांजेक्शन करने से बचें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *