20 दिन पहले मनाया था बर्थडे, कार विंडो से चिपककर बैठी थी, एक्सिडेंट में शीशा टूटकर सिर में घुसा, मौत

यह खबर हैरान कर देने वाली है। आप शायद इसे पढ़कर दंग रह जाएं। मगर यह सच और सभी को अलर्ट करने वाली खबर है। यह वाकया देश की राजधानी दिल्ली से नोएडा के बीच डीएनडी (DND) फ्लाईओवर पर हुआ था। इसमें सॉफ्टवेयर इंजीनियर लड़की श्वेता ठाकुर (Shweta Thakur) अपने दोस्तों के साथ एक पार्टी से लौट रही थी। तड़के 4 बजे नोएडा लौटने के दौरान थकी होने से वह कार की पिछली सीट पर विंडो से अपना सिर सटाकर सो गई थी। उसी दौरान अचानक कार अनिंयत्रिंत होकर डिवाइडर से टकरा गई। इस हादसे में विंडो का शीशा टूटकर उसे सिर में घुस गया और कुछ देर बाद ही लड़की की मौत हो गई।

छत्तीसगढ़ की रहने वाली युवती नोएडा के आम्रपाली सफायर (amrapali sapphire) में रहती थी

इस हादसे में जिस लड़की की मौत हुई उसकी पहचान 24 वर्षीय श्वेता ठाकुर के रूप में हुई। वह मूलरूप से छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की रहने वाली थी। युवती के पिता का नाम लालबाबू है। श्वेता ठाकुर नोएडा सेक्टर-125 स्थित HCL Technologies Ltd में बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर थी। अभी कुछ महीने पहले तक ही वह कंपनी के स्वीडन में तैनात थी। इससे पहले कई अन्य देशों में प्रोजेक्ट के सिलसिले में काम कर चुकीं थीं। श्वेता का 16 मार्च को ही बर्थडे मनाया था। 23 मार्च को छत्तीसगढ़ से नोएडा लौटी थी। नोएडा में वह सेक्टर-45 आम्रपाली सफायर में रहती थी। इसी सोसायटी में इसकी दोस्त गर्विता शाह व दो भाई नवजोत प्रकाश व नवल प्रकाश भी रहते हैं। सभी दोस्त शनिवार रात दिल्ली में एक पार्टी में शामिल होने गए थे।

दिल्ली से रात में 3 बजे लौट रहे थे, डीएनडी पर कार चला रहे युवक को आई झपकी, टकराई कार

दिल्ली से पार्टी मनाकर चारों दोस्त करीब 3 बजे रात में नोएडा के लिए लौट रहे थे। जब ये करीब 4 बजे तड़के डीएनडी से नोएडा की तरफ आ रहे थे उसी दौरान कार चला रहे नवजोत को हल्की झपकी आ गई। जिससे कार की तेज रफ्तार होने से वह अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा गई। उस समय श्वेता ठाकुर कार की विंडो साइड में बैठी थी और आराम से शीशे से सिर सटाकर सो रही थी। उसी समय एक्सिडेंट होने से शीशा टूटकर श्वेता के सिर में घुस गया।

दोस्त तुरंत अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन हो गई मौत

जिस जगह हादसा हुआ वहां से कुछ दूरी पर ही एक प्राइवेट अस्पताल था। श्वेता की गंभीर हालत को देखकर दोस्त किसी तरह उसे अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां कुछ घंटे बाद ही उसे मृत घोषित कर दिया गया। इस हादसे के बारे में दोस्तों ने पिता लालबाबू ठाकुर को सूचना दी। परिवार के लोग नोएडा पहुंचे। हालांकि, इस मामले में परिवार की तरफ से कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है।

Crime Helpline : सफर करते समय रखें सावधानी

  • कार में हमेशा सीट बेल्ट लगाएं और विंडो के पास सिर रखकर न बैठें। ऐसे में हादसे के समय जान का खतरा बना रहता है।
  • अक्सर लोग किसी पार्टी में देर रात जाते हैं तो खुद ही ड्राइव करने लगते हैं। अगर ऐसा हो तो उस समय के लिए ड्राइवर भी साथ ले जाएं।
  • कोशिश करें कि पार्टी में जाना हो तो दिल्ली-एनसीआर के लिए सबसे बेस्ट है कि कैब बुक करके ही आएं और जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *