Neha Shori : एक महीने पहले ही बेटी का दूसरा बर्थडे सेलिब्रेट किया था, उसे है अभी मां का इंतजार

Special Crime Report : Punjab (Panchkula)

बेटी का दूसरा बर्थडे सेलिब्रेट करने के एक महीने बाद ही पंजाब की एक ईमानदार महिला अधिकारी की हत्या कर दी गई। अभी उस बेटी को नहीं पता कि कल तक जिन मम्मी-पापा और पूरे परिवार ने उसके साथ खुशियां मनाई थी वही आजकल रो क्यों रहे हैं? उस मासूम बच्ची को तो ये भी नहीं पता कि अब मेरे पापा ही हमेशा साथ में क्यों रह रहे हैं? मम्मी क्यों नहीं आती साथ में। वो कब तक आएंगी। बस इंतजार है उनका। इंतजार है…

23 फरवरी को बेटी नत्रिशा का  मनाया था बर्थडे, 27 फरवरी को सोशल मीडिया पर बेटी के साथ ही डाली थी आखिरी सेल्फी 

 

Neha FB post : Natrisha turns 2..Twining in red

डॉ. नेहा शौरी उर्फ नेहा मोंगा की शादी वरुण मोंगा से हुई थी। इन दोनों की खुशी अब से ठीक दो साल पहले 23 फरवरी 2017 को कई गुना बढ़ गई थी जब एक परी का जन्म हुआ। उस समय वरुण मोंगा ने कहा था कि हमारे परिवार में खुशियों की बारिश हुई है और आंखों की तारा की तरह एक परी ने जन्म लिया है। इसीलिए बेटी का नाम भी नत्रिशा रखा। इसी नत्रिशा का जन्मदिन 23 फरवरी को पूरे परिवार के साथ मनाया गया था। इसके बाद 27 फरवरी को नेहा मोंगा ने फेसबुक पर आखिरी सेल्फी अपनी बेटी नत्रिशा के साथ ही डाली थी। दोनों मां-बेटी रेड ड्रेस में अपनी खुशी का इजहार कर रहीं थीं। मगर उनकी इन खुशी पर काफी पहले से एक शख्स की नजर लगी हुई थी।

घटना से एक दिन पहले अपने मम्मी-पापा के घर रुकीं थीं नेहा

 

35 साल की डॉ. नेहा शौरी अपने पति वरुण मोंगा के साथ सेक्टर-6 पंचकूला में रहतीं थीं। इनका मायका पंचकूला में ही सेक्टर-12 में है। 29 फरवरी की सुबह घटना से पहले वाली रात में डॉ. नेहा अपने माता-पिता के घर ही रुकी थीं। उस रात में पति से उनकी मुलाकात भी हुई थी। इसके बाद नेहा यह कहकर वहीं रुक गई थीं कि यहीं से सुबह ऑफिस चली जाऊंगी। वह सुबह ऑफिस भी पहुंची लेकिन वहां उनकी ईमानदारी का बदला लेने के लिए मौत इंतजार कर रही थी।

दो बार कार्रवाई होने से आरोपी बलविंदर ने अपनी जान का खतरा बता लिया था रिवॉल्वर का लाइसेंस

डॉ. नेहा शौरी की हत्या करने वाला आरोपी बलविंदर सिंह पूरी साजिश के साथ उनके ऑफिस में दाखिल हुआ था। दरअसल, नेहा ने बलविंदर की मेडिकल शॉप पर नशीली दवा बेचने के मामले में दो बार कार्रवाई कराई थी। पहले लाइसेंस रद्द किया था फिर भी गुपचुप तरीके से दुकान शुरू की तो दोबारा उसे बंद करा दिया था। उसी समय से आरोपी किसी भी कीमत पर नेहा शौरी को मार देना चाहता था। इससे पहले भी वह साजिश रच चुका था मगर मौका नहीं मिल पाया था। दरअसल, पहले भी वह डॉ. नेहा के ऑफिस के कई चक्कर लगा चुका था। इसीलिए उसने साजिश के तहत 8 मार्च को आर्म्स एक्ट के अधीन लाइसेंस लिया था। उसने यह बताकर लाइसेंस लिया था कि उसकी जान को खतरा है। मगर असल में वह खुद किसी की जान लेना चाहता था। इसके बाद 11 मार्च को इसी लाइसेंस पर एक रिवॉल्वर खरीदी थी।

गोली नहीं लगने पर चाकू मार हत्या करने की फिराक में था आरोपी

29 मार्च की सुबह करीब 11 बजे जब आरोपी बलविंदर सिंह ड्रग्स विभाग में नेहा के ऑफिस के पास पहुंचा था तब उसने अपने बैग में रिवॉल्वर के साथ अखबार में छुपाकर चाकू और कई कारतूस भी रखे थे। ऐसा इसलिए किया था ताकि अगर रिवॉल्वर की गोली से किसी तरह से ईमानदार महिला अधिकारी बच भी जाए तो चाकू से मारकर हत्या कर देगा। इसीलिए मौका मिलते ही उसने पहले नेहा पर गोली चला दी। उनकी मौत के बाद आरोपी ने खुद को भी गोली मार आत्महत्या कर ली थी।

‘उड़ता पंजाब’ में नशे की जड़ पर लगाम लगाने की नेहा चला रहीं थीं मुहीम, सिफारिश के बाद भी कर देती थीं लाइसेंस रद्द

‘उड़ता पंजाब’ यानी पंजाब के 70 फीसदी से ज्यादा युवाओं में नशे की लत लगने के पीछे आसानी से ड्रग्स का मिल जाना भी शामिल है। ऐसे में इन ड्रग्स को जड़ से ही खत्म करने के लिए यह महिला अधिकारी मुहिम चला रही थीं। जिन दुकानों या केमिस्ट शॉप पर नशीली दवाएं बेची जातीं थीं उनमें छापेमारी करती थीं। चाहे सिफारिश किसी की भी हो वह नहीं सुनती थीं और लाइसेंस रद्द कर देती थी। आरोपी बलविंदर के केमिस्ट शॉप से नशीली दवाएं मिलने पर लाइसेंस रद्द कर दिया था। इसके बाद आरोपी ने गुपचुप तरीके से दुकान खोलकर फिर से वही काम शुरू कर दिया था। मगर नेहा शौरी ने उसे भी बंद करा दिया था। इसके बाद से ही वह बदले की नीयत से साजिश रचने लगा था।

सोशल मीडिया पर ऐसे महिला अधिकारी को देश ही नहीं बल्कि पाकिस्तानी मीडिया ने भी किया सैल्यूट

 

ईमानदार महिला अधिकारी को पूरे देशभर में सैल्यूट किया जा रहा है। सोशल मीिडया पर यह भी कहा जा रहा है कि ऐसे ईमानदार अधिकारियों की सुरक्षा के लिए सभी राज्य सरकारों को बड़ा कदम उठाना चाहिए। ऐसा नहीं करने पर ईमानदार अधिकारियों में भी डर आना स्वाभाविक है। वहीं, पाकिस्तान के पत्रकार हामीद मीर ने भी इस अधिकारी को ट्वीट करके सैल्यूट किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *