Missing Himanshu : पिता ने कहा, लौट आओ बेटा तुम्हारी मां व छोटी बहन का रो-रोकर बुरा हाल, कोई सुने मेरी पुकार

नोएडा की Amity University से बीटेक कर रहा Himanshu Ranjan पिछले 16 मार्च से लापता है। उसे आखिरी बार दिल्ली में मजनू का टीला के पास देखा गया था। हिमाचल प्रदेश के Kasol  में जाने का भी अंदेशा है। इस तरह हिमांशु Delhi-NCR के अलावा हिमाचल प्रदेश में भी हो सकता है। आप इसकी तलाश में मदद करें.. संपर्क नंबर -7000904358, पुलिस एसएचओ-9870395060 #missing #himanshu #help #Search #crimehelpline
Special Help Desk : Delhi-NCR-Kasol
हर पिता की ख्वाहिश होती है कि मेरा बेटा पढ़-लिखकर नाम रोशन करे। झारखंड में रहने वाले सिविल इंजीनियर पिता ने भी इसी हसरत से अपने बेटे को नोएडा की एमिटी यूनिवर्सिटी (Amity university) में पढ़ाई के लिए भेजा था। बेटा 22 वर्षीय हिमांशु रंजन (#Himanshu Ranjan) 16 मार्च की शाम से संदिग्ध हालात में लापता हो गया है। इसे आखिरी बार दिल्ली के मजनू का टीला के आसपास देखा गया था। इसके बाद उसने हिमाचल प्रदेश के कसोल (#Kasol) जाने के लिए बस की टिकट कराई थी।
  उसके बाद से अब 20 दिन से ज्यादा हो चुके हैं मगर हिमांशु का कोई सुराग नहीं मिला है। इस छात्र के परिजन लगातार दिल्ली, नोएडा और हिमाचल प्रदेश समेत उन सभी स्थानों पर तलाश कर रहे हैं जहां से कोई सुराग मिल सके। नोएडा पुलिस (Noida Police) की एक टीम भी तलाश में जुटी है। पिता सतेश ने लोगों से अपील की है कि बस मेरा बेटा मुझे मिल जाए और कभी किसी से कुछ नहीं चाहिए। कोई मेरे बेटे के बारे में बता दें पूरा परिवार उसका हमेशा के लिए आभारी रहेगा। पिता सतेश कुमार कहते हैं हिमांशु आपकी छोटी बहन और मां इंतजार में कुछ नहीं खा रही हैं। बस इंतजार कर रही हैं। रो रही हैं। तुम लौट आओ जहां भी हो।

नोएडा के पीजी में 3:17 बजे आया और बिना कोई सामान लिए 10 मिनट बाद ही निकला

छात्र हिमांशु के पिता झारंखड में इंजीनियर हैं। हिमांशु नोएडा की एमिटी यूनिवर्सिटी में बीटेक कंप्यूटर साइंस थर्ड ईयर का छात्र है। अब तक की जांच में पता चला है कि 16 मार्च की दोपहर बाद करीब 3:17 बजे वह अपने पेइंग गेस्ट (पीजी) में पहुंचा था और 10 मिनट बाद ही 3:27 बजे टी-शर्ट और हाफ पैंट पहनकर बिना कुछ सामान लिए निकल गया था। इसके बाद उसने ओला कैब बुक कराई और मजनू का टीला पहुंचा। यहां से कुछ देर बाद ही उसने एक एटीएम से 4 हजार रुपये निकाले थे। इसके बाद एक ट्रैवल एजेंसी में जाकर हिमाचल प्रदेश के कसोल जाने के लिए रात 8:40 बजे की बस में टिकट बुक कराई थी। हालांकि, वह कसोल गया या नहीं या फिर दिल्ली में ही कहीं रह गया, इसका पता नहीं चल पाया है। इस पर जांच की जा रही है।

पढ़ने में कभी अव्वल होता था मगर यहां पेपर बैक आने से भी था परेशान 

हिमांशु के परिवार के लोगों ने बताया कि वह पढ़ने में काफी अव्वल था। हमेशा टॉप-10 में रहता था। इसके बाद उसके पिता ने इंजीनियर बनाने के लिए नोएडा की एमिटी यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस मेें एडमिशन कराया था। इस साल उसका थर्ड ईयर था। बताया जा रहा है कि अभी उसका एक पेपर में बैक आ गया था। इससे भी वह काफी परेशान था। इसके अलावा हिमांशु का कुछ दोस्तों से भी मनमुटाव चल रहा था। जिसके चलते वह पिछले कई महीने से डिप्रेशन में था।

डॉक्टरों के भी संपर्क में था हिमांशु, हिमाचल व दिल्ली में हो रही तलाश

पुलिस की जांच में पता चला है कि पिछले कई महीने से परेशान होने की वजह से हिमांशु कुछ डॉक्टरों के भी संपर्क में था। उसे किस तरह की परेशानी थी अभी यह पता लगाया जा रहा है। कहीं किसी दोस्त की वजह से तो उसकी परेशानी नहीं बढ़ गई थी, इस बारे में भी पता लगाया जा रहा है। हिमांशु की कॉल डिटेल से पता चला है कि वह किसी दोस्त से भी पिछले कुछ महीनों में कई बार बात की थी। इसके गुमशुदा होने के पीछे कहीं ये लोग वजह तो नहीं, इसका भी पता लगाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *