LIVE KIDNAPPING : हर मां-बाप के लिए इससे जरूरी खबर कोई नहीं..

अगवा हुए दोनों जुड़वा बच्चे अपने पिता के साथ (फाइल फोटो)

आप भी अपने बच्चों की स्कूल बस या वैन का कराएं सिक्योरिटी ऑडिट, वरना हो जाएगी ऐसी घटना… 

मध्य प्रदेश के सतना जिले में स्कूल बस में दिनदहाड़े घुसकर नकाबपोश बदमाशों ने किया जुड़वा बच्चों का अपहरण

घर के बाद हर कोई स्कूल को ही अपने बच्चों के लिए ज्यादा सुरक्षित समझता है। इसके लिए वह स्कूल भेजने से पहले वहां की सुरक्षा और घर तक आने-जाने की पूरी जानकारी लेता है। मगर सोचिए, उस समय क्या होगा जब आपके मासूम के साथ स्कूल से घर आने के दौरान ही कोई अनहोनी हो जाए। दरअसल, बदमाशों के कई ऐसे गैंग हैं जिनका ट्रेंड यही होता है कि आपसे दुश्मनी निकालने या रंगदारी लेने के लिए बच्चों को निशाना बनाते हैं। इसके लिए बदमाश सबसे ज्यादा बच्चों के स्कूल से घर आने या जाने के दौरान टारगेट पर लेते हैं। इससे पहले, दिल्ली में सुबह ही स्कूल वैन से स्कूल जाते समय एक बच्चे को बाइक सवार बदमाशों ने अपहरण कर लिया था। वहीं, नोएडा में 2006 का सबसे चर्चित व सनसनीखेज अडोब कंपनी के सीईओ नरेश गुप्ता के बेटे अनंत गुप्ता का अपहरण भी स्कूल बस से घर लौटने के दौरान ही किया गया था। इस घटना को भी बाइक सवार बदमाशों ने अंजाम दिया था। अब इस बार 12 फरवरी को मध्य प्रदेश में अपहरण की सनसनीखेज घटना सामने आई है। यह सतना के नयागांव थाना इलाके की घटना है।

LIVE : पहले बस रुकवाई, तुरंत मुंह बांधा, तमंचा निकाला और फिर गोली मारने की धमकी देकर किया अपहरण

बस में लगे सीसीटीवी फुटेज को देखिए। साफ पता चलता है कि चलती बस को पहले रोका जाता है और फिर उसमें दो बदमाश चढ़ जाते हैं। इनके मुंह पर कपड़ा लगा होता है। इन बदमाशों का टारेगट पहले से तय होता है। दोनों जुड़वां बच्चों के पास ही जाते हैं और तमंचा निकालकर गोली मारने की धमकी देते हैं। इसके बाद दोनों बच्चों को अगवा कर लेते हैं। इस दौरान दूसरा बदमाश बस में लगे सीसीटीवी कैमरे को बंद कर देता है। इसके बाद दोनों बदमाश बच्चे को लेकर बाइक से भाग निकलते हैं। यह पूरी घटनाा इतनी सनसनीखेज होती है मगर बदमाश बिल्कुल बेखौफ होकर अंजाम दे जाते हैं। दरअसल, इसके लिए बदमाशों ने पूरी रिहर्सल की होती है।

तेल व्यवसायी से रंगदारी के लिए अपहरण की आशंका

सतना पुलिस के मुताबिक, घटना के बाद बस के ड्राइवर ने ही पुलिस को सूचना दी। इसके बाद वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई। पुलिस ने बताया कि अपहरण किए गए दोनों बच्चे बृजेश रावत के हैं। ब्रजेश सतना में तेल के बड़े कारोबारी हैं। इन बच्चों के नाम शिवम और देवांग हैं। दोनों जुड़वा हैं और उनकी उम्र 5 साल है। एएसपी सतना गौतम सोलंकी ने बताया कि घटना की सूचना के बाद इलाके में नाकेबंदी करवा दी गई है लेकिन बदमाशों का सुराग नहीं मिल पाया।

Crime Helpline सुझाव : ये है सिक्योरिटी ऑडिट के टिप्स

– ऐसी घटना किसी के भी बच्चों के साथ हो सकती है। इसलिए घर के साथ स्कूल ले जाने वाले वाहनों को लेकर हमेशा सतर्क रहें।
– जिस वाहन से बच्चे आते हैं उसके ड्राइवर व कंडक्टर के वेरिफिकेशन की डिटेल की जांच करें। अगर स्कूल लापरवाही बरते तो पुलिस से शिकायत करें।
– स्कूल मैनेजमेंट के साथ मीटिंग करके हमेशा यह बताएं कि स्कूल से बच्चों को लेकर बस या वैन या अन्य वाहन को अच्छी तरह से लॉक किया जाए।
– वाहनों के गेट को किसी बच्चे के घर पहुंचने और सामने उसके माता-पिता या अन्य अभिभावक के आने के बाद ही गेट खोला जाए।
– स्कूल के वाहनों में हमेशा पैनिक बटन या अलार्म जरूरी से लगाया जाए। अगर कहीं कोई हादसा या कोई ऐसी घटना हो तो उसे तुरंत बजा दिया जाए जिससे आसपास के लोग भी तुरंत अलर्ट हो जाएं और मदद मिल जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *