Hidden video : कहीं वॉशरूम या चेंजिंग रूम के एयर फ्रेशनर में spy cam तो नहीं!

रहें अलर्ट : वॉशरूम, होटल व चेंजिंग रूम तक में आप पर कैमरे की नजर, चीनी कंपनियां हाई क्वॉलिटी के 8-10 घंटे तक रिकॉर्ड करने वाले हिडन कैमरों को भारतीय मार्केट में भी बेच रही हैं : EXCLUSIVE CRIME HELPLINE

By : Ishaan : New Delhi

आप कैमरे की नजर में है। सुरक्षा के लिहाज से कई जगह लिखी हुई ये बात काफी अच्छा महसूस कराती है। मगर जरा सोचिए आपकी निजी जिंदगी में भी कैमरे की नजर हो जाए तो कितनी खतरनाक बात है। आप खुद को कितना असहज महसूस करेंगे। मगर आज यह सच है। आप पर नजर रखने के लिए वॉशरूम से लेकर बड़े-बड़े शोरूम के चेंजिंग रूम तक में हिडन कैमरे लगाए जा रहे हैं। ऐसे में खासतौर पर लड़कियों की वीडियो बनाकर उसका कारोबार किया जा रहा है। लिहाजा, यह जरूरी हो जाता है कि आप खुद सजग रहें। आज क्राइम हेल्पलाइन में बताएंगे कि आप ऐसे स्पाई या हिडन कैमरों की कैसे पहचान करें और किन-किन सामान में ऐसे कैमरे लगाकर मार्केट में बेचे जा रहे हैं। यह जानकर आप खुद सुरक्षित रहेंगी और इस खबर को ज्यादा से ज्यादा शेयर करके दूसरों को भी जरूर अलर्ट करें…

 

टूथ ब्रश, सोप बॉक्स, रेजर, टेलिफोन, एयर फ्रेशनर, टेबल लैंप तक में हिडन कैमरे लगाकर बनाई जा रही है वीडियो

आपको यह जानकर काफी हैरानी होगी मगर सच है। इंडिया में भी ऑनलाइन से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मार्केट में गुपचुप तरीके से ऐसे स्पाई कैमरे मिल रहे हैं। ये कैमरे खासतौर पर चेंजिंग रूम, मॉल, होटल या गेस्ट हाउस या अन्य सार्वजनिक स्थानों पर बने वॉशरूम में लगाने के लिए ही बनाए गए हैं। यही वजह है कि चाइनीज कंपनियां सामान्य टूथब्रश जैसे दिखने वाले ब्रश से लेकर सोप बॉक्स, रेजर और यहां तक की एयर फ्रेशनर में भी हिडन कैमरे लगाकर दुनियाभर में बेच रहीं हैं। आप जानकर हैरान होंगे कि बाथरूम क्लीनर स्प्रे तक में कैमरे लगाकर बेचे जा रहे हैं। ये कैमरे भी कीमत के हिसाब से सामान्य और एचडी क्वॉलिटी वाले हैं। इसके अलावा यूएसबी से चार्ज करके इनमें 8-10 घंटे तक की रिकॉर्डिंग की सुविधा भी है। दरअसल, इसमें 8 से 32 जीबी तक की मेमोरी वाली चिप भी लगी हुई है। ऐसे में यह कई घंटे तक की रिकॉर्डिंग कर सकती है और किसी को भनक तक नहीं लग पाती है।

इसलिए बढ़ी बिक्री : हिडन या स्पाई वीडियो की पोर्न साइटों पर है काफी डिमांड

दरअसल, इंडिया में सुप्रीम कोर्ट और भारत सरकार के तमाम रोक लगाए जाने के बाद भी पोर्न वेबसाइटें चल रही हैं। इन वेबसाइटों के लिए अलग-अलग प्लैटफॉर्म के जरिए इंडिया से भी वीडियो की डिमांड की जाती है। इसके लिए अच्छे पैसे भी मिलते हैं। लिहाजा, बहुत से लोग ऐसे हिडन कैमरे की मदद से वीडियो तैयार कर उसे बेच रहे हैं और पीड़ित लड़की को इसकी भनक तक नहीं लग पाती है। इसके अलावा, बहुत से ऐसे लोग भी हैं जो रिकॉर्डिंग कर लड़कियों को ब्लैकमेल भी करते हैं। ऐसे कई मामले देशभर में आ चुके हैं। ऐसे में इस तरह के स्पाई व हिडन कैमरे से बचे रहना ही ज्यादा जरूरी है।

ऐसे बचें : Hidden Camera Detector हिडन कैमरा डिटेक्टर जैसे मोबाइल ऐप से आसानी से कर सकते हैं पहचान

वैसे तो प्ले स्टोर से लेकर वेबसाइटों पर स्पाई या हिडन कैमरा डिटेक्ट करने के लिए कई ऐप हैं। इनमें से कई की पड़ताल करने के बाद हिडन कैमरा डिटेक्टर ऐप (https://play.google.com/store/apps/details?id=hiddencamdetector.futureapps.com.hiddencamdetector&hl=en_IN) ही बेस्ट मिला। दरअसल, इस ऐप के जरिए स्कैन करके किसी भी तरह के कैमरे की पहचान की जा सकती है। यह ऐप टीवी, स्पीकर व कैमरे की उनकी मैग्नेटिक डिवाइस के आधार पर पहचान कर लेता है। ऐसे में यह कन्फ्यूजन नहीं रहता है कि वहां टीवी या स्पीकर है या वाकई में हिडन कैमरा लगा है। इस ऐप की मदद से इन्फ्रारेड कैमरे को भी अासानी से स्कैन किया जा सकता है। इसके अलावा इस ऐप में हिडन कैमरे से बचने के बेहतर टिप्स भी दिए गए हैं। लिहाजा, क्राइम हेल्पलाइन यह सुझाव देता है कि आप इस ऐप को जरूर इंस्टॉल करें और कहीं भी ऐसी जगह पर जाएं तो एक बार जरूर चेक कर लें।

Changing Room : चेंजिंग रूम में जाएं तो ये जरूर चेक करें

मिरर : चेंजिंग रूम में लगे मिरर को टच करें। अगर आपको लगता है कि आपकी उंगली और शीशे के रिफलेक्शन में कोई गैप नजर नहीं आता है तो निश्चित रूप से उसमें कोई कैमरा लगा हुआ है। इसलिए उस चेंजिंग रूम का इस्तेमाल न करें।

हैंगर :
चेंजिंग रूम में लगे स्क्रू जैसे हैंगर में कैमरे लगाए जाने की आशंका होती है। ऐसे में अगर कोई शंका हो तो तुरंत मोबाइल ऐप से उसकी जांच करें। कैमरे को डिटेक्ट करें। अगर मोबाइल फोन नहीं काम कर रहा है तो उस हैंगर पर कपड़े डाल दें।

स्मोक डिटेक्टर : कई चेंजिंग रूम में पंखे या स्मोक डिटेक्टर लगे होते हैं। स्मोक डिटेक्टर ठीक ऊपर लगे होते हैं। लिहाजा उनमें भी कैमरे लगाए जाने की आशंका होती है। ऐसे में उसकी भी जरूर जांच करें।

washroom spy cam : होटल या मॉल या अन्य सार्वजिनक स्थान का वॉशरूम हो तो जरूर चेक करें


मिरर : पहले की तरह ही मिरर की जरूर जांच करें।

सोप बॉक्स, टूथ ब्रश, क्लीनर स्प्रे, स्मोक डिटेक्टर, एयर फ्रेशनर, डस्टबीन… इनमें भी कैमरे छुपाए जा सकते हैं लिहाजा इनकी मोबाइल हिडन कैमरा डिटेक्टर से एक बार स्कैन जरूर कर लें।

ऐसे काम करता है मोबाइल हिडन कैमरा डिटेक्टर ऐप

इस हिडन कैमरा डिटेक्टर ऐप को ओपन करेंगे तो उसमें 4 ऑप्शन मिलेंगे। पहला मैग्नेटोमीटर स्कैनिंग और दूसरा डिटेक्ट इन्फ्रारेड कैमरा है। अगर सामान्य हिडन कैमरे की पहचान करनी है तो मैग्नेटोमीटर स्कैनिंग को ऑन करेंगे। इसके बाद मोबाइल में लगे कैमरे को सभी संदिग्ध वस्तुओं के थोड़ी दूरी पर सामने लाएंगे तो रेड कलर की लाइट के साथ बीप की आवाज आएगी और कैमरा डिटेक्शन का मैसेज आने लगेगा। इससे आप पहचान सकते हैं कि उस जगह पर कैमरा लगा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *