Virat Saraf बर्थडे से दो दिन पहले खुशी के साथ घर लौटा, मां ने कहा दुआएं काम आईं

Virat saraf safely recoverd by bilaspur police

Chhattisgarh छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से 20 अप्रैल की रात में अगवा हुआ 7 साल का विराट 26 अप्रैल की सुबह 6 बजे सकुशल घर लौटा। इस मामले में बिलासपुर पुलिस ने काफी सराहनीय काम किया और रात भर चली पड़ताल में एक घर से बच्चे को खोज निकाला और दो अपहरणकर्ताओं को भी दबोच लिया। ये अपहरणकर्ता अगवा करने के बाद कुछ किमी की दूरी पर ही जरहाभाटा इलाके में फुटहा कॉलेज के पास एक मकान में रखे हुए थे। पुलिस ने 50 हजार से ज्यादा मोबाइल फोन की लोकेशन की जांच करने के बाद इनके ठिकाने तक पहुंचने में सफलता पाई। पकड़े गए दोनों बदमाशों से अभी पूछताछ चल रही है। दोपहर में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पुलिस पूरेे मामले का खुलासा करेगी।

 

देखें वीडियो.. घर आई खुशी..  (courtesy : नई दुनिया)

मां ने तुरंत भगवान की पूजा की, बोलीं- सोशल मीडिया पर दुआ मांगने वालों का शुक्रिया

 

विराट के घर लौटने के बाद की पहली तस्वीर

अपने जिगर के टुकड़े को 6 दिन बाद आंंखों के सामने देखकर मां विभा रोने लगीं। काफी देर तक आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे। उन्होंने तुरंत भगवान की पूजा करने के बाद कहा कि देशभर में लोगों की दुआएं काम आईं। उन्होंने कहा कि भगवान और सोशल मीडिया के जरिए उनकी मांगी दुआ काम आई और मेरा बेटा घर लौट आया। अब दो दिन बाद उसका बर्थडे 28 अप्रैल को है। जिस पर वह भगवान से हमेशा घर में शांति बने रहने की दुआ मांगेंगी। मां और पूरे परिवार ने सभी लोगों का धन्यवाद किया है जिनकी दुआओं से बच्चा सही सलामत घर लौट आया।

 

Also Read :जन्मदिन मनाने से 8 दिन पहले ही अपहरण, मां 3 दिन से नहीं खा रही, जिद है कि कोई बेटे को दिखा दे

 

20 अप्रैल की रात में घर के बाहर से हुआ था अगवा

छत्तीसगढ़ के शहर बिलासपुर (‌Bilaspur) से 7 साल के बच्चे विराट सराफ (Virat Saraf) को 20 अप्रैल की रात में अगवा कर लिया गया था। विराट का जन्म 28 अप्रैल 2012 को हुआ था। 28 अप्रैल को बच्चे के 7वें जन्मदिन मनाने की तैयारी भी चल रही थी। मगर इससे 8 दिन पहले ही बदमाशों ने अपहरण कर लिया। विराट उस समय अपने दोस्तों के साथ रोजाना की तरह करीब 8 बजे से घर के बाहर खेल रहा था। उसी समय बिना नंबर की कार से आए बदमाशों ने बच्चेे का पहले नाम पूछा। इसके बाद उसके बड़े भाई का नाम भी पूछा और जब अच्छे से कन्फर्म कर लिया तभी उसे कार में अगवा कर लिया।

ऐसे किया था अगवा : पहले नाम पूछा, फिर सरनेम, इसके बाद जबरन उठा ले गए थे

20 अप्रैल की रात करीब 8:20 बजे एक सफेद रंग की बिना नंबर वाली कार गली में पहुंची थी। कार में 3 लोग थे। इनमें से एक ने खिड़की से बाहर झांककर विराट से पूछा ककि तुम्हारा नाम ही विराट है न। बच्चे ने अंकल को बताया कि हां, मैं ही हूं। इस पर बदमाश ने पूछा कि सुशांत तुम्हारा भाई है। विराट ने हां में जवाब दिया। इसके बाद बदमाश ने पूछा तुम अपने नाम के बाद सराफ लगाते हो। जैसे ही विराट ने फिर हां कहा तभी एक बदमाश मुंह पर गमझा बांधकर बाहर निकला और विराट को गाड़ी में खींचकर अंदर बैठा लिया। इसके बाद कार सवार भाग निकले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *