ATM Cloning : पहली बार एटीएम क्लोनिंग का सबसे बड़ा लाइव खुलासा

Special Crime Help Desk news

कहीं आपने भी Noida के #GIP Mall के #BURGERKING रेस्टोरेंट से बर्गर लेकर #ATM कार्ड से पेमेंट तो नहीं किया, अगर किया है तो रहें सावधान !!

दिल्ली-एनसीआर के बर्गर किंग का सेल्स मैनजर सुमित ग्राहकों के एटीएम-क्रेडिट कार्ड को काउंटर के नीचे छुपे स्किमर डिवाइस पर स्वाइप करके ऐसे करता था क्लोनिंग, देशभर में चल रहा गैंग, सावधान रहें…

https://youtu.be/K8ZP14A7mhY

एटीएम व क्रेडिट कार्ड की क्लोनिंग का देश का सबसे सनसनीखेज खुलासा सामने आया है। यह मामला दिल्ली-एनसीआर के सबसे बड़े मॉल में से एक जीआईपी मॉल के बर्गर किंग का है। इस बर्गर किंग के काउंटर पर कार्यरत सेल्स मैनेजर ही पिछले दिसंबर 2018 से आने वाले ग्राहकों के एटीएम व क्रेडिट कार्ड को चुपके से छिपाई हुई स्किमर डिवाइस पर स्वाइप कर डिटेल चुरा लेता था। इस तरह उस डिवाइस में किसी के भी कार्ड की पूरी डिटेल सेव हो जाती थी। इसके बाद काउंटर पर लगे सीसीटीवी कैमरे को देखकर उनके डाले हुए कार्ड के पिन नंबर को भी जान लेता था और उसे कार्ड क्लोनिंग करने वाले गैंग को बेच देता था। इसी डिटेल की मदद से हजारों की संख्या में लोगों के कार्ड का क्लोन कर देश भर में ठगी की जा रही है।

महज 10-15 हजार रुपए लेकर आपके हर हफ्ते एटीएम कार्ड की डिटेल का करता था सौदा

atm fraud
आरोपी सुमित



गौर से देखिए इस सेल्स मैनेजर को। कहीं आपने भी ने तो इसे अपना एटीएम या क्रेडिट कार्ड देकर श़ॉपिंग नहीं की है। अगर की है तो तुरंत उसे ब्लॉक करा दें या फिर पिन नंबर जरूर बदल लें। ऐसा नहीं किया है तो आपके बैंक अकाउंट से पैसे निकाले जा सकते हैं। यह शख्स है सुमित। यह नोएडा के जीआईपी मॉल के थर्ड फ्लोर पर स्थित बर्गर किंग में कार्यरत सेल्स मैनेजर था। हालांकि, अब इसे नौकरी से हटा दिया गया है। इसे नोएडा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।


बातों में उलझाकर लोगों के कार्ड को चुपके से इस स्किमर मशीन में कर लेता था स्वाइप, लोगों को नहीं लगती थी भनक

आरोपी सुमित बर्गर किंग के जिस काउंटर पर लोगों से ऑर्डर लेकर पेमेंट लेता था उसी के पास में एक सीसीटीवी कैमरा भी लगा हुआ था। वीडियो को देखने से साफ पता चलता हैै कि वह ग्राहकों को अपनी बातों में उलझाकर उनके कार्ड को काउंटर के नीचे छुपाकर तुरंत स्किमर डिवाइस में स्वाइप कर लेता था। इस तरह कार्ड की पूरी डिटेल डिवाइस में सेव हो जाती थी। इसके बाद काम खत्म होने के बाद वहां लगे कैमरे की मदद से ग्राहकों की तरफ से डाले पिन नंबर को नोट कर मुख्य जालसाज को दे देता था। इस तरह दिसंबर 2018 के बाद से बर्गर किंग में आने वाले ग्राहकों के बैंक अकाउंट से कार्ड क्लोनिंग के जरिए लगातार पैसे निकाले जा रहे थे। एचडीएफसी बैंक के ग्राहकों ने इस तरह की कईं शिकायतें की थी। जिसके बाद बैंक की जांच में पता चला कि फर्जीवाड़े के शिकार हुए ज्यादातर लोगों ने अपनी लास्ट ट्रांजैक्शन नोएडा जीआईपी मॉल के बर्गर किंग में की थी। इसके बाद पुलिस से शिकायत की गई। पुलिस ने बर्गर किंग के सीसीटीवी फुटेज की जांच की तब सुमित के फर्जीवाड़े का पता चल गया। इस मामले में बर्गर किंग के सीनियर मैनेजर ने ही सेक्टर-39 थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। जिसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।

बहन की शादी करनी थी इसलिए झांसे में आ गया.. आरोपी

गिरफ्तार आरोपी सुमित ने पुलिस को बताया कि उसकी 3 बहनें हैं। एक बहन की 8 मार्च को शादी होनी है। उसमें काफी खर्चा आ रहा है। इसीलिए वह लालच में आ गया और कार्ड की डिटेल लेकर उसे बेचने के लिए तैयार हो गया। इसके बाद मुख्य जालसाज राहुल ने सुमित को कार्ड क्लोनिंग करने वाली छोटी स्किमर डिवाइस दी थी। इस डिवाइस में एटीएम व क्रेडिट कार्ड को स्वाइप करने के बाद उसकी पूरी डिटेल फीड हो जाती थी। इस डिटेल को हर हफ्ते में आकर राहुल उससे ले लेता था।

रखें ध्यान : पिन नंबर डालते समय शॉप में लगे सीसीटीवी को जरूर देखें

– सबसे पहले जरूरी है किसी भी जगह आप अपने एटीएम या क्रेडिट कार्ड का पिन नंबर डालते हैं तो जरूर देखें कि वहां कोई सीसीटीवी तो नहीं लगा है।
– इसके साथ ही आप हमेशा हाथ से छुपाकर पिन नंबर डालें। कोशिश करें कि एक अंगुली के बजाय दो या तीन अंगुली का प्रयोग करके पिन नंबर डालें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *