फोन खो भी जाए तो लिखित शिकायत जरूर कराएं नहीं तो..जेल!

सवाल : बस में सफर के दौरान मेरा मोबाइल फोन और पर्स चोरी हो गया था। अब उसके बाद दूसरा सिमकार्ड खरीद लिया हूं। पर्स में आधार कार्ड व पैन कार्ड था। मगर ज्यादा पैसे नही थे। ऐसे में मैंने नया सिम लेकर दूसरा फोन खरीद चुका हूं। ऐसे में क्या पुलिस में एफआईआर कराना जरूरी है। हमे पता है कि पुलिस के चक्कर लगाने पड़ेंगे। पैसे भी देने पड़ेगे। इससे अच्छा है कि बिना एफआईआर के ही शांत रहे।
सुरेश पांडे, गाजियाबाद, यूपी

आपका कोई सामान का चोरी होता है तब उसका आकलन सिर्फ पैसों से नहीं किया जाना चाहिए। यहीं हम गलत सोचते हैं। दरअसल, हमारी कुछ जिम्मेदारियां भी हैं। जैसे ज्यादा कैश नहीं था और आपने दूसरा सिम लेकर नया फोन भी ले लिया। इस तरह बिना पुलिस के चक्कर काटे एक प्रकार से आपको राहत मिल गई। मगर जरा सोचिए अगर आपके खोए हुए फोन के नंबर को एक्टिवेट कराकर किसी ने कहीं पर बम की सूचना दे दी। या फिर कहीं आतंकी घटना हो और आपका फोन वहीं पर रख दे। जिसे जांच के दौरान पुलिस बरामद करके आपसे पूछताछ करने लगे। ऐसे में आप क्या करेगे। आपके पास कोई सबूत है कि आप यह कह सके कि फोन खो गया था। नहीं, बिल्कुल नहीं। आपको दिक्कत होने लगेगी। आपको यह साबित करना कि आप इस वारदात में शामिल नहीं थे, बहुत कठिन हो जाएगा।
                             इसलिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि आप हर परेशानी छोड़कर एक जिम्मेदार नागरिक बनें। आपका फोन या कोई भी जरूरी दस्तावेज खो जाए तो आप उसकी लिखित जानकारी नजदीकी पुलिस थाने में जरूर दे। आप यह मत सोचें कि उसकी एफआईआर होगी। दरअसल, पुलिस के पास एक रोजानामचा की डायरी होती है। उस पर थाने में हर समय की गतिविधियों के बारे में दर्ज किया जाता है। अगर आप किसी दिन दोपहर में 12 बजे अपनी शिकायत देतें हैं और पुलिस उस पर रिसिविंग करते हुए मुहर लगाकर आपको लौटाती है तो आपके लिए वह बहुत बड़ा साक्ष्य होता है। दरअसल, पुलिस उस रिसिविंग को अपनी रोजानामचा डायरी में भी नोट करती है। अगर आप कभी पुलिस केस में फंस जाए तो यह कोर्ट में भी साक्ष्य के तौर पर मान्य होता है। इसलिए बेझिझक आप अपने फोन खोने या चोरी होने की भी लिखित सूचना जरूर दर्ज कराए।

यूपी व दिल्ली में मोबाइल ऐप से भी कर सकते हैं सामान खोने की शिकायत

कई राज्यों की पुलिस ने सामान व मोबाइल खोने के संबंध में लोगों की परेशानी को दूर करने के लिए मोबाइल ऐप भी शुरू किया है। यूपी पुलिस के UPCOP ऐप को डाउनलोड करके आप कई फायदे उठा सकते हैं। इसके जरिए ऑनलाइन एफआईआर कराने के साथ आप अपने नजदीकी थाने के बारे में व फोन नंबर भी पा सकते हैं। इसके अलावा किसी एरिया में कहां एक्सिडेंट वाले एरिया हैं, इसकी भी डिटेल ले सकते हैं। जहां तक मोबाइल या अन्य सामान खोने का सवाल है तो इस ऐप में रिपोर्ट लॉस्ट आर्टिकल नाम से आइकन दिखेगा उस पर क्लिक करके आप शिकायत कर सकेंगे। इसी तरह दिल्ली पुलिस का भी मोबाइल ऐप DELHI POLICE One touch Away नाम से ऐप है। इस पर भी आप कई तरह की डिटेल घर बैठे ले सकते हैं।

One thought on “फोन खो भी जाए तो लिखित शिकायत जरूर कराएं नहीं तो..जेल!

  • January 31, 2019 at 11:20 pm
    Permalink

    Are aisi. Baat hain.. Bhaut jaruri hai ye har kisi ko janana

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *